नई शिक्षा निति 2019 |शिक्षक बनने के इन 6 पड़ाव को करना होगा पार

7
1861
views

कुल 6 पड़ाव से गुजरना होगा भावी शिक्षकों

  • 1- TET (12वीं लेवल के पेपर बनेंगे, 1/3 निगेटिव मार्किंग रहेगा, समस्त खण्डों में पास करना अनिवार्य होगा) |
  • 2- NTA ( National Testing Agency) यह एग्जाम केंद्र करायेगा जिस विषय से डिग्री लिए हो केवल उसी विषय का एग्जाम होगा|
  • जैसे – हिंदी से डिग्री वाले हिन्दी का पेपर देंगे, गणित से डिग्री वाले गणित का पेपर, उर्दू डिग्री वाले उर्दू का पेपर, संस्कृत वाले संस्कृत का पेपर देंगे |
  • 3- तीसरा एग्जाम लिखित परीक्षा होगा इसमें उत्तीर्ण करने वाले ही आगे के प्रोसेस के लिये योग्य होंगे |
  • 4- चौथा स्टेज इंटरव्यू होगा ( इसका लगातार छात्र क्र रहे है विरोध प्रदर्शन इंटरव्यू होने से परीक्षा में पारदर्शिता नहीं धांधली जयदा होगी इसके जो छात्र सहमत नहीं इस निति से वो ऑनलाइन अपनी सलाह,सुझाव अवश्य दे ) |
  • 5- पांचवा स्टेज डेमो प्रशिक्षण का होगा , पहले आपको क्लास में 5-7 मिनट पढ़ाकर दिखाना होगा |
  •  6-7 मिनट आपको BRC कार्यालय में पढ़ाकर दिखाना होगा |
  • इस डेमो का वीडियोग्राफी किया जायेगा और इसे HRD मंत्रालय भेजा जायेगा   |                                              
  • नोट- वर्ष तक अस्थायी सेवा के प्रदर्शन के आधार पर स्थायी नियुक्ति पर विचार किया जायेगा |

अप्पति कैसे दर्ज करे |

सेवा में ,

श्री मान शिक्षा मंत्री महोदय

एम एच आर डी

नई दिल्ली विषय: नई शिक्षा नीति ड्राफ्ट में सुधार के संबंध में

महोदय,

नई शिक्षा नीति का हम स्वागत करते है इससे जरूर अच्छे शिक्षक और विद्यार्थी समाज को मिलेंगे।लेकिन इस ड्राफ्ट में कुछ कमियां प्रमुख है: 1- इंटरव्यू पूरी तरह से पहले ही खत्म किया जा चुका है तो इंटरव्यू पूरी तरह से खत्म होना चाहिए क्योंकि यह भ्रष्टाचार को चरम सीमा तक बढ़ाने का कार्य करेगा। 2- बीआरसी पर होने वाला डेमो अधिकारियों के लिए सिर्फ भ्रष्टाचार का एक जरिया बन जाएगा। 3- तीन साल का प्रोवेशन टाइम नहीं होना चाहिए उसको एक साल का ही रहना चाहिए। 4- NTA जो भी एग्जाम ले वो भी नियुक्ति से पहले हो 5- टीईटी के बाद सुपर टीईटी में 14 विषयों को मिलाकर एग्जाम लिया जा रहा है जिससे NTA परीक्षा की कोई भी आवश्यकता ही नहीं है 6- टीईटी को भले ही आप कठिन स्तर का बना दे लेकिन बार बार पास करने की वैधता खत्म होनी चाहिए। 7- यूजीसी नेट की तरह सीटेट और टीईटी दोनों आजीवन मान्य हो। 8- जब टीईटी पास कर ले उसके बाद भी लिखित पेपर क्यों महोदय जो विचार मैंने आपके समक्ष प्रस्तुत किए है कृपया उन बिंदुओं पर विचार हो।

धन्यवाद |

ये एक उद्धरण है आप सभी को समझाने के आप इनमे जो पॉइंट अच्छा या आप अपने स्तर पर इसमें बदलाव कर सकते | इसको DOWNLOAD ककरके अप्पति दर्ज कर सकते है |

नीचे लिंक पर क्लिक करके अप्पति दर्ज करे |

LINK BELOW

CLICK HERE SERVER 1

CLICK HERE SERVER 2

7 COMMENTS

  1. Sir aap yeh bataye 69000 bharti kab tak puri hogi
    Mai ek handicap hu mera gunaak 65 hai
    Mera selection hoga ki nahi sir please rply

  2. Please ye rule bnana bnd kriye es se hm puri trh se tut the h 69000bharti jld hi pura krne ki kripa kare aur ye rule khtam kriye

  3. Na interview ho aur na hi ad-hoc ka system hona chahiye aapko well educated teacher chahiye aap eaxm ka level increase Kar do per na interview ho aur nahi ad-hoc ka system ho in dono se bhrastacha badehga aur kuch nahi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here